22 September 2014

रगों में गश्त कुछ दिन से कोई आठों पहर दे है...

क्या होता है कि अचानक से...एकदम अचानक से ही लहू की जगह कोई और दौड़ने लगता है रगों में...सरपट, अनवरत, बेकायदा, बेलौस...रातों की नक्काशियाँ एकदम से चटख रंग भर जाती हैं सुबह के कैनवास पर और कोई पुरानी ग़ज़ल फिर से सज कर मचल उठती है सुनाये जाने को ... 

वो जब अपनी ख़बर दे है
जहाँ भर का असर दे है
 
रगों में गश्त कुछ दिन से
कोई आठों पहर दे है

चुराकर कौन सूरज से
यूं चंदा को नज़र दे है

ये रातों की है नक्काशी
जो सुबहों में कलर दे है

कहाँ है ज़ख्म औ' हाकिम
भला मरहम किधर दे है

ज़रा-सा मुस्कुरा कर वो
नयी मुझको उमर दे है

तुम्हारे हुस्न का रुतबा

मुहब्बत को हुनर दे है
{मासिक "आजकल" के जुलाई 2013 अंक में प्रकाशित}

18 comments:

  1. खुबसूरत अभिवयक्ति......

    ReplyDelete
  2. आपकी उत्कृष्ट प्रस्तुति बुधवार के - चर्चा मंच पर ।।

    ReplyDelete
  3. वाह! तुम्हें पढ़ती हूँ तो मन को राहत मिलती है। जो सुबहों में कलर दे है.. . पढ़ कर मुस्कुरा उठी , ये तुम ही लिख सकते हो प्यारेलाल! जीते रहिये!

    ReplyDelete
  4. मेजर साहब बहुत खूब, रगों में आठों पहर गश्त, भई वाह । सुबहों में कलर....

    ReplyDelete
  5. Zabardast...aathon pehar ki gasht! Bahut khoob!!

    ReplyDelete
  6. कहाँ है ज़ख्म औ' हाकिम
    भला मरहम किधर दे है

    Kehte hain ki Gautam ka hai andaaze bayan aur...:-) Jiyo

    ReplyDelete
  7. ज़रा-सा मुस्कुरा कर वो
    नयी मुझको उमर दे है
    क्या खूब सच्चाई शब्दों मे पिरोई गयी है वाह

    ReplyDelete
  8. ज़रा-सा मुस्कुरा कर वो
    नयी मुझको उमर दे है
    बहुत खूब !

    ReplyDelete
  9. ज़रा-सा मुस्कुरा कर वो
    नयी मुझको उमर दे है
    वाह क्या पंक्ति लिखी है आपने एक दम भावविभोर कर दिया.
    मेरे ब्लॉग पर भी आइए. आपका स्वागत है.
    http://iwillrocknow.blogspot.in/

    ReplyDelete
  10. रगों में गश्त कुछ दिन से
    कोई आठों पहर दे है

    aur

    ये रातों की है नक्काशी
    जो सुबहों में कलर दे है

    beshkiimti sher umda hai bhai

    ReplyDelete
  11. बहुत सुन्दर...उम्दा और बेहतरीन प्रस्तुति के लिए आपको बहुत बहुत बधाई...
    नयी पोस्ट@आंधियाँ भी चले और दिया भी जले

    ReplyDelete
  12. मुझे आपका blog बहुत अच्छा लगा। मैं एक Social Worker हूं और Jkhealthworld.com के माध्यम से लोगों को स्वास्थ्य के बारे में जानकारियां देता हूं। मुझे लगता है कि आपको इस website को देखना चाहिए। यदि आपको यह website पसंद आये तो अपने blog पर इसे Link करें। क्योंकि यह जनकल्याण के लिए हैं।
    Health World in Hindi

    ReplyDelete
  13. प्रिय दोस्त मझे यह Article बहुत अच्छा लगा। आज बहुत से लोग कई प्रकार के रोगों से ग्रस्त है और वे ज्ञान के अभाव में अपने बहुत सारे धन को बरबाद कर देते हैं। उन लोगों को यदि स्वास्थ्य की जानकारियां ठीक प्रकार से मिल जाए तो वे लोग बरवाद होने से बच जायेंगे तथा स्वास्थ भी रहेंगे। मैं ऐसे लोगों को स्वास्थ्य की जानकारियां फ्री में www.Jkhealthworld.com के माध्यम से प्रदान करती हूं। मैं एक Social Worker हूं और जनकल्याण की भावना से यह कार्य कर रही हूं। आप मेरे इस कार्य में मदद करें ताकि अधिक से अधिक लोगों तक ये जानकारियां आसानी से पहुच सकें और वे अपने इलाज स्वयं कर सकें। यदि आपको मेरा यह सुझाव पसंद आया तो इस लिंक को अपने Blog या Website पर जगह दें। धन्यवाद!
    Health Care in Hindi

    ReplyDelete
  14. इस ग़ज़ल से जो जादू कर दे
    एक तू है जो सपनो में आँखे धर दे

    पधारे
    www.knightofroyalsociety.blogspot.in में

    ReplyDelete

ईमानदार और बेबाक टिप्पणी दें...शुक्रिया !